आपको कोरोना वायरस महामारी के दौरान बचत करनी चाहिए या निवेश करना चाहिए?

जैसे कि हम लॉकडाउन के तहत अपने-अपने घरों में बैठे है, दुनिया को एक कोरोना वायरस की महामारी से जूझते और लड़ते हुए देख रहे है, ग्लोबल दुनिया की अर्थव्यवस्था और शेयर बाज़ार भी भीषण सफलता को प्राप्त कर रहे है׀

Table of Contents
क्या होगा यदि हम इस कोरोना वायरस के दौरान निवेश करे?
क्या हो यदि हम इस कोरोना वायरस महामारी के दौरान बचत करें?
इस महामारी के दौरान घबराहट से कैसे बचें ?

पिछले कुछ महीनों में बाज़ार ने नये नीचले स्तरों को छुआ है׀

जैसे जितने ज्यादा राष्ट्र इस बीमारी का सामना करने कि कोशिश कर रहे है, इससे विश्व की अर्थव्यवस्था का भविष्य बहुत ही अनिश्चित और अस्थिर है׀

इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए, एक आवश्यक प्रश्न है जो इन हालातों में हम सबके दिमाग में आता है- क्या हमें इस महामारी के दौरान बचत करनी चाहिए या निवेश करना चाहिए?

तो, वर्तमान स्थिति को देखते हुए, हमें क्या करना चाहिए?

क्या होगा यदि हम इस कोरोना वायरस के दौरान निवेश करे?

बार- बार हर समय, भारत ने दुनिया की सबसे बड़ी ग्लोबल मंदी का सामना किया है और इससे उबरा भी है׀

अब, जैसे कि हम इसके जैसी एक और स्थिति का सामना कर रहे है, हमें यह भी ध्यान क्या अब आपको करना चाहिए निवेश? में रखना चाहिए की यह समय भी निकल जाएगा׀

मार्केट एक्सपर्ट्स से सरल भाषा में शेयर बाजार सीखें और ट्रेडिंग करें

इसके साथ ही, बाज़ार में किसी भी प्रकार के निवेश से पहले, हमें बाज़ार की वर्तमान अस्थिरता को भी ध्यान में रखना होगा׀

दुनिया भर के बाज़ार इस महामारी के परिणामों का सामना करने के लिए मजबूर है जब तक कि भारत और कुछ अन्य देश आशाजनक लाभ नहीं दिखा देते׀

इसके अलावा, कुछ क्षेत्र ऐसे भी है जो इस महामारी के बाद नुकसान झेलेंगे या लाभ कमाएँगे׀

तो इसीलिए यदि आप किसी भी क्षेत्र में निवेश करने कि योजना बना रहे है, तो उपरोक्त ब्लॉग पर अवश्य एक नज़र डाले׀

क्या हो यदि हम इस कोरोना वायरस महामारी के दौरान बचत करें?

यह देखते हुए कि हम सभी एक संकट का सामना कर रहे है, इस समय पैसे की बचत करना सबसे अच्छा होगा- फिर चाहे वो आपूर्तियों के लिए हो, हॉस्पिटल के बिल के लिए या फिर हमारी सामान्य जरूरतों के लिए हो׀

जैसा की हमने पहले भी बताया है, कि किसी भी प्रकार के निवेश के लिए निर्णय लेना ठीक नहीं होगा वो भी जब आप अच्छे रिटर्न और धन-सृजन (बचत) की उम्मीद कर रहे है׀

हममें से बहुत से लोग शेयर बाज़ार को छोड़कर अपने पैसे को विभिन्न बचत योजनाओं में डाल सकते है, लेकिन यह बहुत अधिक लाभ नहीं देगा׀

इसीलिए, इस समय, यदि आप अपने पूरे धन को आपातकालीन स्थिति के लिए रखे तो बहुत ही अच्छा होगा׀

इस महामारी के दौरान घबराहट से कैसे बचें ?

कोरोना वायरस स्थिति

जैसा कि हम उपर दर्शाए गए बातों से देख सकते है, यह बात साफ़ है कि बाज़ार कि स्थिति निवेश करने के लिए जरा मुश्किल है׀

बाज़ार की यह स्थिति में यह समय सीखने और आत्मनिरिक्षण करने का है, न कि सीधे लाभ कमाने के लिए निवेश करने का׀

यदि आप एसआईपी के द्वारा बाज़ार में निवेश करते है, आपको उन्हें होल्ड पर नहीं रखना चाहिए, लेकिन यदि आपको और लिक्विड एसेट कि आवश्यकता है तो किसी भी बड़े निवेश के निर्णय को समझदारी से ध्यानपूर्वक लेने कि आवश्यकता है या हो सके तो ऐसे निर्णय लेने से बचे׀

भले ही हम अपने घरों में सुरक्षित रह रहे है, लेकिन हम इस बात को झुटला नहीं सकते की हम सभी इस समय बहुत बुरी आपातकाल स्थिति में रह रहे है׀

कोरोना वायरस में निवेश या बचत के बारे में अधिक जानने के लिए यह वीडियो क्या अब आपको करना चाहिए निवेश? देखें –

कोई फर्क नहीं पड़ता कि स्थिति कैसी है, पैसे की बचत ने हमेशा हमारे बुरे समय में हमें सहारा ही दिया है׀ और लम्बे समय में, निवेश हमेशा किसी भी महामारी कि स्थिति से उबरने में सहायता ही करेगा׀

इस प्रश्न पर कि “क्या आपको महामारी के दौरान बचत करनी चाहिए या निवेश करना चाहिए?” आपका क्या निर्णय है क्या अब आपको करना चाहिए निवेश? यह जानने में हमारी मदद करें, इस वर्तमान परिस्थिति में आप कौन सा सुझाव देंगे- बचत या निवेश?

Subscribe To Updates On Telegram Subscribe To Updates On Telegram Subscribe To Updates On Telegram

স্টক মার্কেটের ওপর (Covid-19) নভেল করোনা ভাইরাসের প্রভাব

कोविड 19: लॉकडाउन के बाद लाभकारी क्षेत्र

Elearnmarkets

Elearnmarkets (ELM) is a complete financial market portal where the market experts have taken the onus to spread financial education. ELM constantly experiments with क्या अब आपको करना चाहिए निवेश? new education methodologies and technologies to make financial education effective, affordable and accessible to all. You can connect with us on Twitter @elearnmarkets.

शेयर बाजार में निवेश करने के लिए क्या करना होता है? 8 बुनियादी सवालों के जवाब

Share Market Guide: शेयर खरीदने के लिए क्या करना होगा, किस कंपनी का शेयर खरीदे?

शेयर बाजार में निवेश करने के लिए क्या करना होता है? 8 बुनियादी सवालों के जवाब

महंगाई (Inflation) बढ़ रही है और रुपये (Rupee) का मूल्य घट रहा है. यानी सिर्फ पैसा बचाने से काम नहीं चलेगा, पैसा बढ़ाना भी पड़ेगा. ऐसे में शेयर बाजार (Share Market) में निवेश अच्छा विकल्प हो सकता है. लेकिन शेयर मार्केट (Stock Market) में पहली बार निवेश करने वालों के लिए क्या जानना जरूरी है? शेयर बाजार में निवेश करने के लिए क्या करना होता है?

कब कर सकते हैं? किस शेयर में पैसा लगाएं? ये सारी बातें यहां हम आपको बता रहे हैं.

शेयर बाजार में निवेश करने के लिए क्या करना होता है? 8 बुनियादी सवालों के जवाब

1. शेयर क्या है?

किसी कंपनी को चलाने के लिए पूंजी यानी कैपिटल की जरूरत पड़ती है. अब कंपनी को चलाने के लिए मालिक बाजार से पैसा उठाना चाहता है तो वह कैपिटल को हिस्सों में बांट देता है यही हिस्से कहलाते हैं शेयर. जैसे किसी कंपनी की कैपिटल 100 रुपये है. अब कंपनी इसे 100 हिस्सों में बांट दें तो वे 100 हिस्से शेयर्स कहलाएंगे और एक शेयर एक रुपये का होगा. अब इसी कैपिटल को दो या 5 हिस्सों में भी बांटा जा सकता है. यानी कंपनी की एक यूनिट एक शेयर के बराबर होती है.

अब आप किसी कंपनी का हिस्सा बनना चाहते हैं तो उसके शेयर खरीद सकते हैं. इन्हीं शेयर्स की जब आप खरीदी बिक्री करने जिस बाजार में जाएंगे उसे कहते हैं शेयर बाजार.

2. शेयर खरीदने के लिए क्या करना होगा?

शेयर बाजार में पांव रखने से पहले आपको चाहिए डिमैट अकाउंट. जैसे बैंक में बचत, एफडी में निवेश के लिए बैंक अकाउंट चाहिए वैसे ही शेयर मार्केट में निवेश के लिए डिमैट अकाउंट होना जरूरी है. डीमैट के जरिए ही शेयर्स को खरीदा-बेचा जाता है, होल्ड किया जाता है. यह एक तरह से शेयर्स का डिजिटल अकाउंट है.

3. डीमैट अकाउंट क्या है

डीमैट अकाउंट मतलब- डीमटेरियलाइज्ड यानी किसी भी फिजिकल चीज का डिजिटलाइज होना. डिमैट अकाउंट आप चंद सैकेंड में खोल सकते हैं. आधार कार्ड, पैन कार्ड जैसी केवाईसी डॉक्यूमेंट लगती हैं. इसके लिए ब्रोकर की जरूरत होती है. अब ब्रोकर कोई व्यक्ति भी हो सकता है और कंपनी भी. ब्रोकर की वेबसाइट या एप पर जाकर डिमैट अकाउंट आसानी से खोला जा सकता है. अगर आप नेटबैंकिंग करते हैं तो आपके बैंक की वेबसाइट या एप पर भी डिमैट अकाउंट खोल सकते हैं. आमतौर पर इसकी लिए कोई फीस नहीं देनी होती लेकिन यह कंपनी पर निर्भर करता है कि वे डिमैट के लिए कितना वसूलना चाहते हैं.

4. किस कंपनी का शेयर खरीदें?

जवाब है किसी अच्छी कंपनी है, क्योंकि अच्छी कंपनी के शेयर्स अच्छा रिटर्न देते हैं. अच्छी कंपनी मतलब जिसका प्रॉफिट, प्रोडक्ट, भविष्य अच्छा हो. शेयर मार्केट की भाषा में इसे कंपनी के फंडामेंटल्स यानी बुनियादी बातें कहते हैं, कंपनी के फंडामेंटल्स अच्छे हैं तो कंपनी का भविष्य अच्छा माना जाता है. इसके लिए आपको कंपनी की सालाना बैलेंस शीट पर नजर रखनी होती है. यानी कंपनी कितना कमा रही है, कितना कर्ज है, कितना मुनाफा हो रहा है? कंपनी के शेयर्स ने पहले कैसा प्रदर्शन किया है. ये सब देखना होता है. कई बार खबरें भी कंपनी के शेयर्स को प्रभावित करती हैं. जैसे कि जब दुनिया के सबसे अमीर आदमी ईलॉन मस्क ने ट्विटर को खरीदने का ऐलान किया तो निवेशकों में ट्विटर के शेयर्स को खरीदने की होड़ लग गई. लेकिन निवेशक केवल कंपनी के फंडामेंटल्स पर ध्यान दें तो भी काम बन सकता है. सबसे पहले ऐसे शेयर में निवेश करें क्या अब आपको करना चाहिए निवेश? जो सुरक्षित हैं. यानी उन बड़ी कंपनियों के शेयर्स खरीदें जो दशकों पुरानी हैं, प्रॉफिट में रहती है और आगे भी रहेंगी. इससे आप नुकसान में नहीं रहेंगे. जब इसमें निवेश कर लें तो शेयर्स को स्टडी करना सीखें, कंपनी की बैलेंस शीट पढ़ना सीखें.

5. प्राइमरी मार्केट और सेकेंडरी मार्केट क्या है?

जब आप कोई शेयर सीधे कंपनी क्या अब आपको करना चाहिए निवेश? से खरीदते हैं जैसे की आईपीओ के जरिए.. यह प्राइमरी मार्केट है. यानी कंपनियां जो शेयर्स बाजार में इश्यू करती है. लेकिन जब सीधे कंपनी से खरीदे हुए शेयर्स को आप अन्य खरीदारों में बेचने जाते हैं तो वो सेकेंड्री मार्केट है. यानी इश्यू किए हुए शेयर्स की जब खरीद बिक्री होती है.

6. ट्रेडिंग या निवेश?

एक्सपर्ट कहते हैं कि 5 साल, 10 साल या उससे भी ज्यादा समय के लिए निवेश करने वाले फायदे में रहते हैं. यानी लॉन्ग टर्म इंवेस्टमेंट. अब शेयर बाजार को गहनता से समझने वाले और रिस्क उठा सकने वाले ही शॉर्ट टर्म या हर रोज शेयर बाजार में निवेश कर सकते हैं. कितना और कितने समय के लिए निवेश? अब सबसे पहले आप ये तय करें कि निवेश कितना करना है और कितने समय के लिए. फिर तय करें कि आप निवेश करना क्यों चाहते हैं यानी कि आपका उद्देश्य क्या है. जैसे, शिक्षा, शादी या घर खरीदने जैसे गोल्स. इसी अनुसार आप आगे बढ़ते हैं और तभी आप फैसला ले पाएंगे कि आपको किस शेयर में निवेश करना है. शेयर मार्केट में शुरुआत धीमी रखें.

7. शेयर बाजार नहीं समझते हैं तो कैसे निवेश करें?

अगर आपके पास इन सब के लिए समय नहीं है या समझ नहीं है तो ऐसी स्थिति में आप किसी फाइनेंशियल एक्सपर्ट से ही सलाह लें, एक्सपर्ट को बताएं कि आप कितना खर्च करना चाहते हैं और कितने समय के लिए. आपका निवेश का उद्दश्य क्या है और आप निवेश से कितने रिटर्न की अपेक्षा रखते हैं. एक उपाय म्यूचुअल फंड भी हैं. जिसमें कुछ एक्सपर्ट आपके जैसे कई निवशकों के पैसे को कहां लगाना है ये तय करते हैं.

Share Market: किसी ने कमाए करोड़ों- इसपर न जाएं, अपनी अक्ल लगाएं

Share Market: किसी ने कमाए करोड़ों- इसपर न जाएं, अपनी अक्ल लगाएं

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

पहली बार शेयर बाजार में कर रहें है निवेश तो जान लें ये बातें; जानें क्या करें, क्या ना करें

Stock Market में निवेश की शुरुआत करने वाले निवेशक कई बार बड़ी गलतियां कर बैठते हैं और अपनी पूंजी गंवा देते हैं। निवेशकों को हमेशा इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वो कभी किसी भी अनजाने व्यक्ति की सलाह पर शेयर में पैसा नहीं लगाएं

नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। अपने भविष्य को संवारने के लिए जरूरी होता है कि आप सही समय पर निवेश की शुरुआत करें । वहीं किसी भी निवेश से पहले जरूरी होती है उसकी सोच समझ कर की गई प्लानिंग। हर निवेशक पैसा लगाने के बदले में कुछ उम्मीद या कोई लक्ष्य रख कर आगे बढ़ता है। अगर आप प्लानिंग के साथ निवेश की शुरुआत करते हैं तो यकीन मानिये कि आप अपने लक्ष्य को जरूर प्राप्त करेंगे। निवेश करने से पहले आपको इस बात की योजना बनानी होगी कि आपके पास फंड कहां से आएगा और आपको कितना निवेश करना है। वहीं आपको ये भी समझना होगा कि आप इस रकम के साथ कितना जोखिम उठाने के लिए तैयार हैं। इसी आधार पर निवेश की नींव तैयार की जा सकती है। बढ़ती महंगाई ने निवेशकों की जेब पर डाका डाला है, लोगों की सेविंग्स खत्म हो रही है, ऐसे में महंगाई को मात देने के लिए निवेशकों के लिए अब जरूरी हो गया है कि वो अपना रिटर्न बढ़ाने पर ध्यान दें। ऐसे में शेयर बाजार में सोच समझ कर किया गया निवेश निवेशकों के लिए काफी मददगार हो सकता है।

Best Way To Invest In SIP Mutual Funds

आज ही शुरू करें अपना शेयर मार्केट का सफर, विजिट करें- https://bit.ly/3n7jRhX

महंगाई का मुकाबला करने के लिए शेयर बाजार की अहमियत पहले से ज्यादा बढ़ गई है। ये सच है कि शेयर बाजार में निवेश जोखिम भरा होता है, लेकिन ये भी सच है कि नए निवेशक आसानी से स्टॉक मार्केट के बारे में सीख सकते हैं और इनवेस्ट कर पैसा कमा सकते हैं। स्टॉक मार्केट में इनवेस्टमेंट का क्या अब आपको करना चाहिए निवेश? कोई क्या अब आपको करना चाहिए निवेश? शॉर्टकट नहीं है। अगर आप कुछ नियमों का पालन करते हैं और बाजार को समझते हुए आगे बढ़ते हैं तो आप बेहतर रिटर्न पा सकते हैं। स्टॉक मार्केट में उतार-चढ़ाव होता रहती है, ऐसे में यह समझना जरूरी है कि स्टॉक्स में निवेश पर आपको फायदा और नुकसान दोनों ही हो सकता है। स्टॉक मार्केट में निवेश करते समय धैर्य रखना बेहद जरूरी है।

Learn investment and financial planning from football matches, you will get better returns

कैसे करें स्टॉक्स का चयन

शेयर बाजार में निवेश शुरू करने के लिए बड़ी रकम की जरूरत नहीं होती है। आप थोड़ी-थोड़ी रकम से बाजार में निवेश की शुरुआत कर सकते हैं। नए investor को शुरुआत में ज्यादा रिटर्न पर फोकस करने से बचना चाहिए। इसलिए, उन्हें तेज उतार-चढ़ाव वाले stock पर फोकस करने के बजाए फंडामेंटली मजबूत शेयरों में पैसा लगाना चाहिए। कई बार ऐसा पढ़ने-सुनने को मिलता है कि इन्वेस्टर ज्यादा रिटर्न पाने के लालच में ऐसी कंपनियों के शेयर में निवेश कर देते हैं, जो फंडामेंटली मजबूत नहीं होती हैं और निवेशक इसमें फंस जाते हैं। इसलिए निवेश की शुरुआत लार्जकैप शेयरों से करना बेहतर होगा।

Investors should keep these things in mind in bull and bear market

शुरुआत में नए निवेशक को penny stocks में पैसा लगाने से बचना चाहिए। कई निवेशकों को लगता है कि ऐसे शेयर में पैसा लगाकर मोटा मुनाफा कमाया जा सकता है। लेकिन ये दांव अक्सर उलटा पड़ जाता है। जब आप शेयर बाजार अच्छी तरह समझने लगें तो आप थोड़ा जोखिम उठा सकते हैं। शेयर का चुनाव हमेशा कंपनी की ग्रोथ देखकर ही करना चाहिए। उसी क्या अब आपको करना चाहिए निवेश? कंपनी के शेयर में निवेश करें, जिसका कारोबार अच्छा हो और उसको चलाने वाला मैनेजमेंट बेहतर हो। तभी आप अपने निवेश पर अच्छा रिटर्न पा सकेंगे।

क्या करें, क्या ना करें

सोशल मीडिया पर दिए गए टिप्स के आधार पर स्टॉक मार्केट में इनवेस्ट ना करें। एक निवेशक को बाय एंड होल्ड की रणनीति अपनानी चाहिए। स्टॉक मार्केट में गिरावट आने पर कभी भी घबराकर पूरा निवेश नहीं निकालें। आप उन कंपनियों के शेयर पर फोकस रहें जिसमें आपने पूरी रिसर्च और भरोसे के साथ इनवेस्ट किया है। अगर आपने सिर्फ stock के प्रदर्शन को देखकर जल्दी पैसा कमाने के चक्कर में कहीं इनवेस्ट किया है तो तुरंत अपने निवेश की समीक्षा करें। शेयर बाजार में गिरावट आने पर निवेश बंद नहीं करें। बाजार के जानकारों से सलाह लें और निवेश के विकल्प खुले रखें।

शेयर बाजार में पैसा लगाने वालों के लिए जरूरी बातें

Stock Market में निवेश की शुरुआत करने वाले निवेशक कई बार बड़ी गलतियां कर बैठते हैं और अपनी पूंजी गंवा देते हैं। निवेशकों को हमेशा इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वो कभी किसी भी अनजाने व्यक्ति की सलाह पर शेयर में पैसा नहीं लगाएं। निवेश करने से पहले कंपनी के बारे में खुद रिसर्च करें या भरोसे वाले बाजार के जानकारों से मदद लें। 5paisa ऐसा ही एक एक्सपर्ट है जो आपको बाजार में आगे बढ़ने के लिए कारगर सलाहें देता है, जिससे बाजार में आप अपना पहला कदम मजबूती के साथ रख सकते हैं।

वहीं share चुनते समय रिटर्न को ही आधार बनाना सबसे आम गलतियों में से एक है। इसलिए निवेशक को कभी ऊंचे रिटर्न देखकर ही पैसा लगाने का फैसला नहीं करना चाहिए। यह ध्यान रखना चाहिए कि शेयर की चाल हमेशा एक समान नहीं होती है, इसमें उतार-चढ़ाव बना रहता है।

किसी कंपनी पर आंख बंद कर भरोसा करने की गलती कभी नहीं करें। अगर आपने एक ऐसी कंपनी में निवेश किया है जिसका फंडामेंटल मजबूत था, लेकिन अब उसमें कुछ बदलाव हुआ है तो शेयर बेचकर निकलने में ही क्या अब आपको करना चाहिए निवेश? भलाई है। याद रखें, आपने पैसा कमाने के लिए शेयर में निवेश किया है, नुकसान उठाने के लिए नहीं।

FD पर मिल रहा 9% से ज्यादा रिटर्न, क्या अभी एफडी तोड़ कर वापस से निवेश करना चाहिए?

रेपो रेट में लगातार इजाफे के इस दौर में फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) में निवेश करने वाले ग्राहकों को काफी फायदा हो रहा है। पिछले 7 महीनों में आरबीआई (RBI) ने रेपो रेट में 225 बेसिस प्वाइंट का इजाफा किया है।

FD पर मिल रहा 9% से ज्यादा रिटर्न, क्या अभी एफडी तोड़ कर वापस से निवेश करना चाहिए?

रेपो रेट में लगातार इजाफे के इस दौर में फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) में निवेश करने वाले ग्राहकों को काफी फायदा हो रहा है। पिछले 7 महीनों में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने रेपो रेट में 225 बेसिस प्वाइंट का इजाफा किया है। रेपो रेट में इस इजाफे के बाद लगभग सभी बड़े प्राइवेट और सरकारी बैंकों ने एफडी रेट्स को बढ़ा दिया है। एफडी रेट्स में इजाफे के दौड़ में सबसे बड़ा सवाल है कि क्या हमें अपनी पुरानी एफडी को खत्म करके नई एफडी में निवेश करना चाहिए?

कई स्मॉल फाइनेंस बैंक दे रहे 9.26 पर्सेंट तक रिटर्न
मई 2022 में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) अपने ग्राहकों को 1 साल से लेकर 3 साल से कम की एफडी पर 5.10 पर्सेंट से 5.20 पर्सेंट का ब्याज दे रहा था। लेकिन 14 दिसंबर 2022 को इसी टाइम पीरियड के लिए इंटरेस्ट रेट बढ़कर 6.75 पर्सेंट हो गया है। दूसरी ओर स्मॉल फाइनेंस बैंक अपने ग्राहकों को बंपर रिटर्न दे रहा है। कई बैंक अपने सीनियर सिटीजन ग्राहकों को 7.25 पर्सेंट से 9.26 पर्सेंट तक ब्याज दे रहे हैं।

एफडी तोड़ने से पहले इन बातों का रखें ध्यान
अगर आप अपनी पुरानी एफडी को खत्म करना चाहते हैं तो आप सबसे पहले उसके बचे हुए टेन्योर, अल्टरनेटिव एफडी ऑप्शन और प्रीमेच्योर विड्रॉल के बाद की पेनल्टी का ध्यान रखें। अगर आपकी पुरानी एफडी के मैच्योर होने में 1 साल से कम का समय है तो इसे होल्ड करना बेहतर हो सकता है। चुकी क्या अब आपको करना चाहिए निवेश? कई बैंक प्रीमेच्योर विड्रॉल पर 0.5 पर्सेंट से लेकर 1 पर्सेंट तक पेनल्टी चार्ज करते हैं। जिससे कुल मिलाकर पुरानी एफडी को तोड़ने पर बहुत कम का फायदा होता है।

रेटिंग: 4.85
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 484