शेयर बाजार लुभाता है और खोलना है डीमैट अकाउंट, यहां जानें इसकी एबीसी

JNU Times

Upstox के साथ अपना ऑनलाइन Free Demat Account कैसे खोलें? पूरी जानकारी विस्तार से

How To Open Your Free Demat Account With Upstox? full details in detail

How To Open New Trading & Demat Account Online Upstox: अपस्टॉक्स एक स्टॉक ब्रोकर है जो आपका ऑनलाइन ट्रेडिंग और डीमैट अकाउंट खोलती है।

  • ऑनलाइन डीमैट अकाउंट खोलने का डायरेक्ट लिंक यहUpstox का है।
  • ट्रेडिंग और डीमैट अकाउंट खोलने में लाइव सहायता पाने के लिए ईमेल करें। ([email protected])

Upstox के साथ डीमैट अकाउंट खोलने के फायदे

  • सबसे पहला फायदा इसमें आपका अकाउंट फ्री में खुलता है वहीं बाकी ब्रोकर आपका डीमैट खाता खोलने के लिए आपसे कुछ फीस लेते है।
  • Upstox के साथ आप Online घर बैठे ही अपना ट्रेडिंग और डीमैट खाता खोल सकते है आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं होती।
  • आप Upstox की ऑनलाइन वेबसाइट और ऐप से शेयर खरीदना और बेचना इसके अलावा आप आईपीओ, म्यूचुअल फंड, कमोडिटी और करेंसी में निवेश कर सकते है।

Upstox Trading & Demat Account कैसे खोलें?

इसके बाद आपको नीचे फोटो जैसा पेज दिखेगा उसमे आपको अपना मोबाइल नंबर डालकर Start Investing पर क्लिक करना है।

अब आपको अपना मोबाइल नंबर डालना है और इसपर आया ओटीपी डालना है।

अब जैसे UPI में रहता है वैसा ही आपको छः अंको का एक पिन बना लेना है और उसे डालने के बाद Continue पर क्लिक करना है। और उसके बाद आपको अपना वही पिन दुबारा डालना है।

जब आप अपना पिन सेट कर लेंगे उसके बाद आपको अपना ईमेल ऐड्रेस डालना है।

जब आप अपना ईमेल पता वेरिफाई कर लेते है तब आगे आपको नीचे दिया गया पेज दिखेगा अगर आपके पास पैन कार्ड है तो उसपर क्लिक करें और Continue पर क्लिक करें।

अब आप अपना पैन कार्ड नंबर और जन्मतिथि डालकर Next पर क्लिक करें।

अब आपसे कुछ जानकारी मांगी जाएगी उसे आप अपने हिसाब से डाल दें आपका जेंडर क्या है, आपकी शादी हुई है या नही, आपकी वार्षिक आय कितनी है और भी कुछ सवाल आपसे पूंछे जायेंगे जिनका आपको जवाब देना हैं।

अपने पते (Address) विवरण को देखें यदि वो सही है तो ठीक वरना No I Won’t Edit Them पर क्लिक करके अपना सही पता लिखें। अगर आपका पता सही है तो Yes These Details Are Currect पर क्लिक करें।

आपके बैंक खाता खुलवाते समय या पैन कार्ड बनवाते समय जो हस्ताक्षर किए थे उनमें से एक साइन यहां कर दें।

आपको इस फोटो में से Connect Now पर क्लिक करना है।

अब आपको Allow पर क्लिक करके अनुमति देनी है और बाद में Proceed पर क्लिक करना है।

अब आपको डीजी लॉकर को एक बार फिर से अनुमति देनी होगी।

अब आपको अपना एक फोटो खींचना है आप किसी दीवार के सामने खड़े होकर अपना फोटो खींच सकते है और उसे अपलोड कर दें।

अब आपको अपनी बैंक की पासबुक से अपना सही सही बैंक खाता विवरण दर्ज कर दें। अपना नाम, आईएफएससी कोड, अकाउंट नंबर, और अकाउंट टाइप सभी सही सही लिखें।

इसमें आपको Sign Up Free पर क्लिक करके Continue पर क्लिक करना है।

आप अगर नए है तो उसे छोड़ भी सकते है क्योंकि शुरुआत में आपको इसकी ज्यादा जानकारी नहीं होगी। आप I Will Do To Letter पर क्लिक करें।

अगर आपको कुछ हो जाए तो आपके अकाउंट में पड़े शेयर किसको मिलेंगे नॉमिनी को ही मिलेंगे उसके लिए आपको 3 Nominees चुनने का Option मिलेगा आप उनकी सही जानकारी डाल सकते हैं और आप इसे छोड़ भी सकते हैं। आप I’ll Do It Letter पर क्लिक करके इसे छोड़ सकते हैं।

इस प्रक्रिया में आप के आधार कार्ड से लिंक हुए मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा जैसे आपको डालना होगा।

अब आपके अकाउंट खोलने की पूरी प्रक्रिया कर ली है अगर आपने सब कुछ सही डाला होगा तो आपका खाता 2 से 3 दिन में शुरू कर दिया जाएगा।

डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट ऑनलाइन खोलने से जुड़ी किसी भी समस्या के लिए हमें ईमेल जरूर करें हम आपको समस्या का हल जरूर निकलेंगे। ([email protected])

स्टॉक मार्केट की लेटेस्ट खबरें जानने के लिए हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कर लें।

Upstox पर फ्री में डीमैट अकाउंट कैसे खोलें? (Step-by-Step guide)

Upstox par free demat account kaise banaye in hindi: अपस्टॉक्स (Upstox) इंडिया का सबसे ज्यादा भरोसेमंद डिस्काउंट ब्रोकर है यह तो आप सभी लोग जानते हैं क्योंकि upstox को रतन टाटा ने fund किया हुआ है। तो अगर डिमैट अकाउंट खोलने की बात आती है तो Upstox (जो कि एक डिस्काउंट ब्रोकर है) का नाम सबसे पहले आता है क्योंकि अपस्टॉक्स पर आप फ्री में अपना डिमैट अकाउंट खोल सकते हैं।

Upstox par Free demat account kaise khole

आज मैं आपको step by step बताऊंगा की Upstox पर फ्री में डिमैट अकाउंट कैसे खोलें? और Upstox में डीमैट खाता खोलने के लिए क्या करना पड़ता है?

तो अगर आप भी अपस्टॉक्स पर फ्री में अपना डिमैट अकाउंट खोलना चाहते हैं तो इस पोस्ट में बताए गए सभी steps को ध्यान से follow करना।

मैं वादा करता हूं इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप आसानी से अपस्टॉक्स पर फ्री में अपना डिमैट अकाउंट खोल पाएंगे।

चलिए सभी स्टेप्स को एक-एक करके जान लेते हैं–

अपस्टॉक्स पर फ्री में डीमैट अकाउंट कैसे खोलें? (Upstox par account kaise banaye in hindi)

अब आपको 24 घंटे इंतजार करना है ( कभी-कभी 3 दिन भी लग जाते हैं लेकिन अक्सर 24 घंटे के अंदर हो जाता है) 24 घंटे बाद आपके ईमेल आईडी पर एक मेल आएगा जिसमें आपका यूजर आईडी और पासवर्ड होगा जिसकी मदद से आप upstox app में login कर पाएंगे और फिर आप किसी भी शेयर को खरीद बेच सकते हैं या ट्रेडिंग कर सकते हैं।

अपस्टॉक्स खाता खोलने के लिए कितना शुल्क लेता है?

अपस्टॉक्स पर अकाउंट खोलने के लिए आपको कोई चार्ज या शुल्क नहीं देना पड़ता है लेकिन जब आप खाता खोल लेते हैं तो आपको ट्रेडिंग करने के लिए कुछ छोटे-मोटे ब्रोकरेज चार्जेस देने पड़ते हैं.

Upstox में डीमैट खाता खोलने में कितना समय लगता है?

एक बार जब आप अपस्टॉक्स पर खाता खोलने के लिए इस पोस्ट में दिए गए सभी स्टेप्स पूरे कर लेते हैं तो 24 घंटे से लेकर 3 दिन का समय लगता है. उसके बाद आपकी upstox login details आपकी मेल पर भेज दी जाती है.

क्या upstox खाता अभी फ्री है?

जी हां अभी 2022 में अपस्टॉक्स पर अकाउंट खोलना बिल्कुल फ्री है.

अपस्टॉक्स में कितना चार्ज होता है?

अपस्टॉक्स पर आपको इंद्राणी या डिलीवरी में शेयर खरीदने पर ₹20 ब्रोकरेज चार्जेस देने पड़ते हैं और इसी तरह शेयर को बेचने पर भी ₹20 ब्रोकरेज शुल्क देना पड़ता है।

आशा करता हूं आपको इस पोस्ट (Upstox par free demat account kaise banaye) में बताए गए सभी steps समझ आ गए होंगे। अगर आपका कोई सवाल है तो नीचे कमेंट बॉक्स में पहुंच सकते हैं और अगर आपको यह पोस्ट (upstox पर फ्री में डिमैट अकाउंट कैसे खोलें) पसंद आई हो तो सोशल मीडिया पर अन्य लोगों के साथ भी जरूर शेयर कीजिए।

सावधान: केवाईसी अधूरी है तो एक अगस्त से डीमैट-ट्रेडिंग खाता होगा बंद, ये चार बदलाव भी डालेंगे असर

ट्रेडिंग (सांकेतिक तस्वीर)

म्यूचुअल फंड और शेयर बाजार में पैसे लगाने वाले निवेशकों ने अपने डीमैट और ट्रेडिंग खातों की केवाईसी नहीं कराई, तो एक अगस्त से ऐसे खातों को बंद कर दिया जाएगा। एनएसडीएल ने सर्कुलर में कहा है कि 31 जुलाई तक अपने खातों की केवाईसी पूरी कर दें।

डिपॉजिटरी के अनुसार, डीमैट व ट्रेडिंग खाते रखने वाले निवेशकों को नो योर कस्टमर (केवाईसी) प्रक्रिया के तहत छह जानकारियां देनी होती हैं। इसमें नाम, पता, पैन विवरण, मोबाइल नंबर, ई-मेल आईडी और सालाना आय शामिल है। एक जून 2021 के बाद खुलने वाले सभी खातों के लिए ये छह जानकारियां देना अनिवार्य बना दिया है, उससे पहले से निवेशकों का केवाईसी अपडेट कराने के लिए 31 जुलाई तक समय दिया है।

ये चार बदलाव भी डालेंगे आप पर असर

रविवार व छुटृटी में भी आएगा वेतन
अगस्त से वेतन या पेंशन की तिथि पर रविवार या अवकाश हुआ, तो भी खाते में पैसा आएगा। रिजर्व बैंक ने घोषणा की थी कि अगले महीने से नेशनल ऑटोमेटेड क्लीयरिंग हाउस (नाच) की सेवाओं को 24 घंटे सक्रिय रखा जाएगा। किस्त चुकाने के लिए भी पर्याप्त बैलेंस रखना होगा।

एटीएम का इस्तेमाल होगा महंगा
रिजर्व बैंक ने जून में कहा था कि 1 अगस्त से एटीएम इंटरचेंज शुल्क 2 रुपये बढ़ाकर 17 रुपये कर दिया जाएगा। एटीएम के गैर वित्तीय इस्तेमाल पर प्रति ट्रांजेक्शन 6 रुपये शुल्क लगेगा, जो पहले 5 रुपये था। आईसीआईसीआई बैंक ने तीन मुफ्त ट्रांजेक्शन के बाद हर बार 20 रुपये शुल्क की घोषणा की है।

डाक बैंक की घर पर सेवाओं के लिए शुल्क
भारतीय डाक भुगतान बैंक (आईपीपीबी) भी 1 अगस्त से घर पर सेवाएं उपलब्ध कराने पर शुल्क लेगा। उपभोक्ताओं को सुकन्या या अन्य खातों से जुड़ी सेवाएं घर पर लेने के लिए हर बार 20 रुपये व जीएसटी का भुगतान करना होगा। अभी तक यह सेवा निशुल्क है।

एलपीजी गैस कीमतों में होगा बदलाव
सरकार हर महीने की पहली तारीख को रसोई गैस की कीमतों में बदलाव करती है। 1 अगस्त को भी इसकी कीमतों में उछाल या गिरावट आएगी। पिछले कुछ महीनों से एलपीजी के दाम लगातार बढ़ रहे हैं और एक साल में 40 फीसदी इजाफा हो चुका है। ऐसे में आगे भी कीमतें बढ़ने का अनुमान है।

विस्तार

म्यूचुअल फंड और शेयर बाजार में पैसे लगाने वाले निवेशकों ने अपने डीमैट और ट्रेडिंग खातों की केवाईसी नहीं कराई, तो एक अगस्त से ऐसे खातों को बंद कर दिया जाएगा। एनएसडीएल ने सर्कुलर में कहा है कि 31 जुलाई तक अपने खातों की केवाईसी पूरी कर दें।

डिपॉजिटरी के अनुसार, डीमैट व ट्रेडिंग खाते रखने वाले निवेशकों को नो योर कस्टमर (केवाईसी) प्रक्रिया के तहत छह जानकारियां देनी होती हैं। इसमें नाम, पता, पैन विवरण, मोबाइल नंबर, ई-मेल आईडी और सालाना आय शामिल है। एक जून 2021 के बाद खुलने वाले सभी खातों के लिए ये छह जानकारियां देना अनिवार्य बना दिया है, उससे पहले से निवेशकों का केवाईसी अपडेट कराने के लिए 31 जुलाई तक समय दिया है।

ये चार बदलाव भी डालेंगे आप पर असर

रविवार व छुटृटी में भी आएगा वेतन
अगस्त से वेतन या पेंशन की तिथि पर रविवार या अवकाश हुआ, तो भी खाते में पैसा आएगा। रिजर्व बैंक ने घोषणा की थी कि अगले महीने से नेशनल ऑटोमेटेड क्लीयरिंग हाउस (नाच) की ट्रेडिंग खाता शुल्क सेवाओं को 24 घंटे सक्रिय रखा जाएगा। किस्त चुकाने के लिए भी पर्याप्त बैलेंस रखना होगा।

एटीएम का इस्तेमाल होगा महंगा
रिजर्व बैंक ने जून में कहा था कि 1 अगस्त से एटीएम इंटरचेंज शुल्क 2 रुपये बढ़ाकर 17 रुपये कर दिया जाएगा। एटीएम के गैर वित्तीय इस्तेमाल पर प्रति ट्रांजेक्शन 6 रुपये शुल्क लगेगा, जो पहले 5 रुपये था। आईसीआईसीआई बैंक ने तीन मुफ्त ट्रांजेक्शन के बाद हर बार 20 रुपये शुल्क की घोषणा की है।

डाक बैंक की घर पर सेवाओं के लिए शुल्क
भारतीय डाक भुगतान बैंक (आईपीपीबी) भी 1 अगस्त से घर पर सेवाएं उपलब्ध कराने पर शुल्क लेगा। उपभोक्ताओं को सुकन्या या अन्य खातों से जुड़ी सेवाएं घर पर लेने के लिए हर बार 20 रुपये व जीएसटी का भुगतान करना होगा। अभी तक यह सेवा निशुल्क है।

एलपीजी गैस कीमतों में होगा बदलाव
सरकार हर महीने की पहली तारीख को रसोई गैस की कीमतों में बदलाव करती है। 1 अगस्त को भी इसकी कीमतों में उछाल या गिरावट आएगी। पिछले कुछ महीनों से एलपीजी के दाम लगातार बढ़ रहे हैं और एक साल में 40 फीसदी इजाफा हो चुका है। ऐसे में आगे भी कीमतें बढ़ने का अनुमान है।

शेयर बाजार में निवेश करना चाहते हैं, तो जरूरी है Demat Account होना, जानें कैसे खुलता है, क्या होता है चार्ज

How to open a Demat Account : डीमैट खाता खोलने की प्रक्रिया बहुत आसान होती है. इसके लिए सबसे पहले आपको एर फॉर्म ऑनलाइन भरना होता है. जिसके बाद ई वेरिफिकेशन होता है. ये प्रोसेस पूरी होते ही आपका डीमैट खाता खुल जाता है.

शेयर बाजार में निवेश करना चाहते हैं, तो जरूरी है Demat Account होना, जानें कैसे खुलता है, क्या होता है चार्ज

Demat Account : शेयर बाजार में ट्रेडिंग करने के लिए जरूरी है डीमैट अकाउंट. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

शेयर बाजार में ट्रेडिंग (Share Market Trading) कर पैसा बहुत से लोग बनाना चाहते हैं लेकिन शेयर्स खरीदने और बेचने के लिए जिस डीमैट अकाउंट की जरूरत होती है, उसके बारे में कम ही जानकारी होती है. डीमैट अकाउंट कैसे काम करता है, इस खाते को खोलने के लिए जरूरी कागजात कौन से होते हैं और कितनी फीस डीमैट खाते को खोलने के लिए खर्च करनी पड़ती है. ऐसे बहुत सारे सवालों के जवाब हम आपको इस खबर की मदद से दे रहे हैं क्योंकि शेयर ट्रेडिंग के लिए डीमैट अकाउंट होना जरूरी है, इसके बिना ट्रेडिंग नहीं की जा सकती है.

तो आइए जानते हैं डीमैट खाते से जुड़ी हर जरूरी जानकारी.

क्या होता है डीमैट खाता

यह भी पढ़ें

जिस तरह से बैंक अकाउंट होता है. इसी तरह से डीमैट अकाउंट भी बैंक खाते की तरह काम करता है. शेयर बाजार को रेगुलेट करने वाली संस्था SEBI के साफ निर्देश हैं कि बिना डीमैट खाते के शेयरों को किसी भी अन्य तरीके से खरीदा और बेचा नहीं जा सकता है.

डीमैट खाते की सबसे अच्छी बात होती है ये जीरो अकाउंट बैलेंस के साथ भी खोला जा सकता है. इसमें मिनिमम बैलेंस रखने की जरूरत नहीं होती है. शेयर बाजार में निवेश के लिए निवेशक के पास बैंक अकाउंट, ट्रेडिंग अकाउंट और डीमैट खाता होने चाहिए क्योंकि डीमैट खाते में आप शेयरों को डिजिटल रूप से अपने पास रख सकते है. तो वहीं ट्रेडिंग अकाउंट से मदद से शेयर, म्युचुअल फंड और गोल्ड में निवेश किया जा सकता है.

कैसे खोलें डीमैट खाता

- शेयरों में ट्रेडिंग खाता शुल्क ऑनलाइन निवेश करने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी डीमैट खाता होता है. आप इसे HDFC सिक्योरिटीज, ICICI डायरेक्ट, Axis डायरेक्ट जैसे किसी भी ब्रोकरेज के पास खुलवा सकते हैं.

- ब्रोकरेज फर्म का फैसला लेने के बाद आप उसकी वेबसाइट पर जाकर डीमैट अकाउंट ओपन करने का फॉर्म सावधानी से भरने के बाद उसकी KYC प्रोसेस को पूरा करें.

- KYC के लिए फोटो आईडी प्रूफ, एड्रेस प्रूफ के लिए डॉक्यूमेंट की जरूरत पड़ेगी. जब ये प्रोसेस पूरी हो जाएगा तो उसके बाद इन-पर्सन वेरिफिकेशन होगा. संभव है जिस फर्म से आप डीमैट अकाउंट खुलवा रहे हों, वो अपने सर्विस प्रोवाइडर के दफ्तर आपको बुलवाएं.

- इस प्रोसेस को पूरा होने के बाद आप ब्रोकरेज फर्म के साथ टर्म ऑफ एग्रीमेंट साइन करते है. ऐसा करने के बाद आपका डीमैट अकाउंट खुल जाता है.

- फिर आपको डीमैट नंबर और एक क्लाइंट आईडी दी जाएगी.

कौन खोलेगा डीमैट खाता

इंडिया में डीमैट खाता खोलने का काम दो संस्थाएं करती है. जिसमें पहली है NSDL (National Securities Depository Limited) और दूसरी है CDSL (central securities depository limited). 500 से अधिक एजेंट्स इन depositories के लिए काम करते है, जिनको आम भाषा में डीपी भी कहा जाता है. इनका काम डीमैट अकाउंट खोलना होता है.

जरूरी शर्तें

डीमैट अकाउंट खोलने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी शर्त होती है कि जो व्यक्ति शेयर ट्रेडिंग के लिए डीमैट अकाउंट खुलवा रहा हो उसकी उम्र 18 साल से ज्यादा होनी चाहिए. साथ ही इसके लिए उस व्यक्ति के पास पैन कार्ड, बैंक अकाउंट आइडेंटिटी और एड्रेस प्रूफ होना जरूरी है.

शेयर बाजार लुभाता है और खोलना है डीमैट अकाउंट, यहां जानें इसकी एबीसी

इस सप्ताह के पहले दिन भारतीय शेयर बाजारों (Indian Stock Exchange) में तेजी का माहौल है। इससे पहले बीते शुक्रवार को भी बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (Bombay Stock Exchange) का संवेदी सूचकांक (Index) एक हजार अंक से भी ज्यादा चढ़ कर बंद हुआ था। हालांकि, इससे पहले शेयर बाजार में उतार और चढ़ाव का दौर चल रहा है। तब भी इस समय कई अच्छे आईपीओ (IPO) आ रहे हैं। हाल ही में सरकारी कंपनी एलआईसी का आईपीओ (LIC IPO) आया था, जिसमें रिकार्ड संख्या में आवेदन मिले थे। आवेदकों में ज्यादातर खुदरा निवेशक (Retail Investor) थे। इनमें से ढेरों निवेशकों ने हाल ही में डीमैट (Demat Account) अकाउंट खुलवाया था।

stock market entices and has to open demat account, know its abc here

शेयर बाजार लुभाता है और खोलना है डीमैट अकाउंट, यहां जानें इसकी एबीसी

डीमैट अकाउंट क्या है?

डीमैट अकाउंट एक बैंक खाते (Bank Account) की तरह होता है। अंतर सिर्फ इतना है कि यह इलेक्ट्रॉनिक रूप में नकदी के बजाय स्टॉक से जुड़ा है। डीमैट खाता अपने ऑपरेटिव फंक्शन के लिए डीमैटरियलाइजेशन के कंसेप्ट का इस्तेमाल करता है। डीमैटरियलाइजेशन वह प्रक्रिया है जिसमें फिजिकल शेयर सर्टिफिकेट इलेक्ट्रॉनिक रूप में परिवर्तित हो जाते हैं। हम कह सकते हैं कि डीमैट अकाउंट एक छत की तरह है जिसके नीचे निवेशक के सभी शेयरों को कलेक्ट करने के लिए तकनीक का उपयोग करता है। इनमें सरकारी सिक्योरिटी, म्यूचुअल फंड्स, शेयर, बॉन्ड आदि शामिल हैं।

समझदारी से चुनें ब्रोकर

आप ऐसे डिजिटल ब्रोकिंग फर्म (App or Web based digital broking firms) की तलाश करें जो सहज ऑनबोर्डिंग प्रक्रिया, बेस्ट ब्रोकरेज चार्ज और वैल्यू-एडेड सेवाएं प्रदान करता है। कुछ ब्रोकरेज हाउसों के पास ट्रेड्स पर जीरो ब्रोकरेज चार्ज और दूसरों पर फ्लैट रेट्स हैं। ये दोनों फेक्टर आकर्षक हैं क्योंकि वे ट्रेडिंग करते समय आपको आवश्यक कॉस्ट-एडवांटेज प्रदान करते हैं। इसके अलावा, जब आप डिजिटल रूप से ट्रेड करने जा रहे हैं, यह सुनिश्चित करना आवश्यक है कि आपके पसंदीदा प्लेटफ़ॉर्म से कोई तकनीकी गड़बड़ियां नहीं हुई हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि ऐसी कोई भी गड़बड़ आपके निवेश को संकट में डाल सकती है। ब्रोकरेज फर्म में आगे देखने के लिए इनडेप्थ रिसर्च और पर्सनलाइज्ड निवेश सिफारिशें भी प्रमुख विशेषताएं हैं।

बैंक भी देते हैं डीमैट अकाउंट की सुविधा

आपका जिस बैंक में खाता (Bank Account) है, सबसे पहले वहीं चेक कर सकते हैं। आज की तारीख में अधिकतर बैंक की सहायक कंपनी डीमैट अकाउंट (Demat Account) की सुविधा दे रहे हैं। यदि बैंक के पास ब्रोकरेज फर्म नहीं है तो वह किसी ब्रोकरेज फर्म से टाईअप करके अपने ग्राहकों को डीमैट अकाउंट की सुविधा दे देते हैं। बैंक के अलावा कुछ वॉलेट कंपनी भी इस तरह की सुविधा दे रही हैं।

पूरी करें कस्टमर ऑनबोर्डिंग प्रक्रिया

सभी डिजिटल ब्रोकरेज फर्मों के पास ऑनलाइन कस्टमर ऑनबोर्डिंग प्रक्रिया (Online Customer Onboarding Process) है। डिजिटल खाता खोलने का फॉर्म भरें और पहचान और पते के प्रमाण अपलोड करें। इन केवाईसी दस्तावेजों में पैन कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट इत्यादि शामिल हैं। ब्रोकरेज फर्म भी आपकी मुश्किलों का हल अपनी हेल्पलाइन के माध्यम से करने में आपकी सहायता करती हैं।

सत्यापन प्रक्रिया पूरी करें

आपके द्वारा प्रस्तुत क्रेडेंशियल्स को सत्यापित करने का काम एक एक्जीक्यूटिव को सौंपा जाएगा। यह एक सरल लेकिन महत्वपूर्ण प्रक्रिया है जो फोन कॉल या ब्रोकरेज फर्म के प्रतिनिधि से फिजिकल विजिट के माध्यम से किया जा सकता है। मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए टेली-वेरिफिकेशन की अत्यधिक संभावना है। कुछ ब्रोकरेज फर्म शुरुआती एप्लिकेशन से एक घंटे से भी कम समय में पूरी प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं।

अकाउंट डिटेल्स प्राप्त करें

एक बार ट्रेडिंग खाता शुल्क सत्यापित (After Varification) हो जाने के बाद आपके खाते को आधिकारिक रूप से शेयर ट्रेडिंग (Share Trading) के लिए मंजूरी मिल जाएगी। आपको एक वेलकम किट प्राप्त होगी जिसमें अकाउंट डिटेल्स जैसे कि एक यूनिक आईडी और आपके खाते तक पहुंचने के लिए पासवर्ड होगा। आप शेयर बाजार में ऑनलाइन ट्रेडिंग (Online Trading) करने के लिए तैयार हैं।

पहले ट्रेडिंग से जुड़ी बातें जान लें

अंत में, यह आपका पहला ट्रेड करने का वक्त है! चूंकि आप ट्रेडिंग में नए हैं, इसलिए सुनिश्चित करें कि आप रेफरेंस मटेरियल के माध्यम से जाएं और ट्रेडिंग फंडामेंटल के वेबिनार में भाग लें। जरूरत पड़ने पर आप कई बैंक खातों को ट्रेडिंग खाते से लिंक भी कर सकते हैं। ऐसा करने से आपको अपने टाइम-सेंसिटिव ट्रेड्स के लिए तुरंत टॉप-अप में मदद मिलती है। इस नए ट्रेडिंग खाता शुल्क अकाउंट के साथ, आप निवेश की आदतों विकसित करने और बेहतर आरओआई की यात्रा पर निकले हैं। सुनिश्चित करें कि आप निवेश करते समय अनुशासित रहें और जब तक कि दुनिया लॉकडाउन से ट्रेडिंग खाता शुल्क वापस आ जाए, अपने निवेश को बढ़ते देखें।

चार्जेस का भी रखें ध्यान

डीमैट अकाउंट खोलना आज की तारीख में काफी आकर्षक काम हो गया है। इसलिए इस क्षेत्र में ढेरों प्लेयर आ गए हैं। शुरूआत में जब डीमैट अकाउंट खुलने शुरू हुए थे तो चार्जेस काफी हाई थे। लेकिन अब कई कंपनियां जीरो फी पर डीमैट अकाउंट खोल रही हैं। ये कंपनियां सिर्फ ट्रेडिंग पर ही थोड़ा सा शुल्क वसूलती है। इस तरह से इनका काम इसी शुल्क से चल जाता है। इसलिए, किसी कंपनी के यहां अकाउंट खुलवाने से पहले इन जार्च की अच्छी तरह से तुलना अवश्य कर लें।

रेटिंग: 4.85
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 677