भास्कर एक्सप्लेनर: टेस्ला के निवेश के बाद बिटक्वॉइन की कीमत 11 लाख रुपए तक बढ़ी; जानें क्यों ये इतना महंगा है? और कैसे काम करता है?

इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला ने बिटक्वॉइन में निवेश किया है। कंपनी आने वाले वक्त में बिटक्वॉइन को भी पेमेंट ऑप्शन के रूप में स्वीकार करेगी। वहीं, ट्विटर भी अपने कर्मचारियों और वेंडर्स को बिटक्वॉइन में पेमेंट करने के बारे में सोच रहा है।

टेस्ला ने बिटक्वॉइन में 11 हजार करोड़ का निवेश किया

टेस्ला ने पिछले महीने अपनी इन्वेस्टमेंट पॉलिसी अपडेट की है। इसमें कंपनी ने बताया है कि वो कुछ ऑल्टरनेटिव रिजर्व एसेट्स में भी निवेश करेगी। इनमें डिजिटल एसेट्स, गोल्ड बुलियन, गोल्ड एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड भी शामिल हैं। इसके लिए कंपनी ने 1.5 बिलियन डॉलर यानी करीब 11 हजार करोड़ रुपए बिटक्वॉइन में इन्वेस्ट किया है। आगे भी इस तरह के कई डिजिटल एसेट्स में निवेश किया जाएगा।

11 दिन में एक बिटक्वॉइन की कीमत 11 लाख रुपए बढ़ी

टेस्ला के ऐलान के बाद बिटक्वॉइन के रेट तेजी से बढ़ रहे हैं। इसे ऐसे समझ सकते हैं कि एक फरवरी को एक बिटक्वॉइन 33 हजार डॉलर यानी करीब 24 लाख रुपए के बराबर था। वहीं, 11 फरवरी को एक बिटक्वॉइन की कीमत 48 हजार डॉलर यानी करीब 35 लाख रुपए के बराबर पहुंच गई।

दुनिया की सबसे पॉपुलर क्रिप्टोकरेंसी है बिटक्वॉइन

  • बिटक्वॉइन एक क्रिप्टोकरेंसी है। दुनिया में इस वक्त 4 हजार से ज्यादा क्रिप्टोकरेंसी चलन में हैं। बिटक्वॉइन इनमें सबसे पॉपुलर क्रिप्टोकरेंसी है। हर बिटक्वॉइन ट्रांजेक्शन ब्लॉकचेन के जरिए पब्लिक लिस्ट में रिकॉर्ड होता है। जो डिसेंट्रलाइज तरीके से अलग-अलग यूजर्स द्वारा किया जाने वाला रिकॉर्ड मेंटेनेंस सिस्टम है।
  • क्रिप्टोकरेंसी एक तरह की वर्चुअल करेंसी है। बिटक्वॉइन इसका एक ब्रांड है। इसको ऐसे समझ सकते हैं कि क्रिप्टोकरेंसी अगर कोला है तो बिटक्वॉइन पेप्सी है।
  • अब आप कहेंगे कि रुपया, डॉलर सब तो दिखता है, क्रिप्टोकरेंसी को मैं कैसे समझूं? तो ये एक तरह का कॉम्प्लेक्स कम्प्यूटराइज्ड कोड है जिसकी कोई दूसरी कॉपी नहीं बनाई जा सकती।

बिटक्वॉइन के दाम इतने ज्यादा क्यों बढ़ रहे हैं?

टेस्ला के इन्वेस्टमेंट के बाद इस तरह की चर्चाओं को बल मिला है कि दुनियाभर की सरकारें बिटक्वॉइन को लीगल टेंडर के रूप में स्वीकार कर सकती हैं। इस कारण इसकी डिमांड बढ़ी है। ज्यादा डिमांड और कम सप्लाई के कारण इसके दाम तेजी से बढ़ रहे हैं। इसी वजह से बिटक्वॉइन के दाम मार्च 2020 से जनवरी 2021 के बीच ही 414% तक बढ़े।

करेंसी नहीं, एसेट है क्रिप्टोकरेंसी

  • क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के रूप में काम कर रही वजीरएक्स के AVP मार्केंटिंग परीन कहते हैं कि क्रिप्टोकरेंसी को लोग पैसा समझते हैं। इसके नाम में भले करेंसी हो, लेकिन ये एक एसेट है। जैसे आप बिटकॉइन कैसे निकालें गोल्ड या स्टॉक को कंसिडर करते हैं, ये उसी तरह का एक एसेट है।
  • बिटक्वॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी का इकोनॉमिक्स भी सोने की तरह ही डिजाइन किया गया है। सोने की वैल्यू इसलिए है, क्योंकि उसका प्रोडक्शन हर साल दो फीसदी ही बढ़ता है। बिटक्वॉइन में भी इसी तरह के इकोनॉमिक्स को बिल्ट किया गया है। बिटक्वॉइन 2.1 करोड़ ही हो सकता है। इसलिए इसकी वैल्यू बहुत ज्यादा होती है।
  • इसे एक उदाहरण से समझते हैं। हम सब ने सुना है कि सोना और जमीन में निवेश कभी नुकसान का सौदा नहीं होता। इन्हें खरीदकर रखना चाहिए। इनकी कीमत घटने की जगह बढ़ती है। जरूरत के वक्त ये हमारे काम आते हैं। क्रिप्टोकरेंसी के ट्रेड में काम कर रहे एक्सपर्ट्स इसे कुछ ऐसा ही कहते हैं। वो कहते हैं ये वर्चुअल सोना है।

सिक्युरिटी, यूटिलिटी टोकन के रूप में भी काम कर रही क्रिप्टोकरेंसी

  • कुछ कंपनियां सिक्युरिटीज क्रिप्टोकरेंसी निकाल रही हैं। इसका इकोनॉमिक्स शेयर की तरह होता है। इस तरह की क्रिप्टोकरेंसी आप लेते हैं तो आपके वॉलेट में शेयर की जगह क्रिप्टोकरेंसी दिखेगी। इसकी वैल्यू शेयर की तरह कम-ज्यादा होती हुई दिखाई देगी।
  • कुछ क्रिप्टोकरेंसी यूटिलिटी टोकन की तरह भी काम करती हैं। इसे ऐसे समझा जा सकता है जैसे आपको गो-आइबीबो, स्टारबक्स के प्वॉइंट मिलते हैं, तो आप इन्हें इन्हीं जगहों पर जाकर यूज कर सकते हैं। इन्हें आप किसी दूसरी जगह जाकर न तो यूज कर सकते हैं, ना ही उन्हें दूसरी जगह बेच सकते हैं। यूटिलिटी टोकन क्रिप्टोकरेंसी में भी ऐसा होता है।

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज वजीरएक्स के AVP मार्केंटिंग परीन कहते हैं- अगर आप इसे खरीदना चाहते हैं तो आप इसके एक्सचेंज पर जाकर खरीद सकते हैं, लेकिन इसका ध्यान रखिए कि किसी बड़ी एक्सचेंज पर जाकर खरीदिए। ये एक्सचेंज आपसे KYC मांगते हैं। जो एक्सचेंज KYC नहीं मांगते, वहां से क्रिप्टोकरेंसी खरीदना खतरनाक हो सकता है।

क्रिप्टोकरेंसी पर भारत में अब तक क्या हुआ है?

अप्रैल 2018 में RBI ने क्रिप्टोकरेंसी को बैन कर दिया, लेकिन मार्च 2020 में सुप्रीम कोर्ट ने इसे गलत बताया। इसके बाद कई एक्सपर्ट्स को लगता है कि आने वाले समय में देश में क्रिप्टोकरेंसी का लेन-देन लीगल हो सकता है। इसी महीने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राज्यसभा में बताया कि केंद्रीय मंत्रियों की एक कमेटी ने सरकार की ओर से जारी वर्चुअल करेंसी को छोड़कर हर तरह की प्राइवेट क्रिप्टोकरेंसी को बैन करने का सुझाव दिया है।

सरकार की क्रिप्टोकरेंसी को लेकर उलझन क्या है?

कई ऐसे प्लेटफॉर्म हैं, जहां आप बिना अपनी पहचान बताए क्रिप्टोकरेंसी खरीद या बेच सकते हैं। यही सरकार की सबसे बड़ी चिंता है। इस तरह के ट्रांजेक्शन से टेरर फंडिंग और मनी लॉन्ड्रिंग का भी खतरा बना रहता है।

इसी वजह से कई साइबर क्रिमिनल फिरौती के रूप में क्रिप्टोकरेंसी की डिमांड करते हैं। इसमें उनकी पहचान तक नहीं हो पाती और ना ही उन्हें ट्रैक किया जा सकता है।

सरकार की इस चिंता पर भारत में क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के रूप में काम कर रही यूनोक्वॉइन के को-फाउंडर और CEO सात्विक विश्वनाथ कहते हैं कि ये डिजिटल गोल्ड कमोडिटी है। क्रिप्टोकरेंसी से जुड़े जो भी ट्रांजेक्शन एक्सचेंज के जरिए होते हैं, वो पूरी तरह ट्रांसपेरेंट होते हैं। यहां यूजर को KYC भरना पड़ता है। सारा ट्रांजेक्शन डिजिटल होता है। ऐसे में इसे आसानी से ट्रैक किया जा सकता है।

CoinDcx App क्या है अकाउंट कैसे बनाए और पैसे कमाए | CoinDcx In Hindi)

CoinDcx Full Details In Hindi भारत में क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने के लिए बहुत सारे एप्लीकेशन हैं, लेकिन इनमें से कुछ ही एप्लीकेशन हैं जो काफी लोकप्रिय हैं. इन लोकप्रिय एप्लीकेशन में से एक है CoinDcx.

CoinDcx एक ऐसी एप्लीकेशन है जहाँ पर आप क्रिप्टोकरेंसी में ट्रेड करके अच्छे पैसे कमा सकते हैं.इसलिए हमने आज का यह लेख आपके लिए लिखा है.

आज के इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं कि CoinDcx App क्या है, CoinDcx App पर अकाउंट बनाने के लिए आवश्यक दस्तावेज, CoinDcx App पर अकाउंट कैसे बनायें, CoinDcx App पर KYC कैसे करें, CoinDcx App पर बैंक अकाउंट कैसे जोड़ें, CoinDcx App पर कैसे कैसे डिपोजिट करें, CoinDcx App से पैसे कैसे कमायें, CoinDcx App से पैसे कैसे निकालें, इस प्रकार की तमाम सारी जानकारी आपको इस लेख के माध्यम से मिलने वाली है इसलिए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें.

क्रिप्टोकरेंसी में आएगी भारी गिरावट, बिटकॉइन 25 फीसदी और टूट सकती है

मुंबई- क्रिप्टोकरेंसी के सबसे बड़े एक्सचेंजों में से एक एफटीएक्स के दिवालिया होने से क्रिप्टो निवेशक सकते में हैं। एफटीएक्स के दिवालिया होने से यह ट्रिलियन डॉलर की इंडस्ट्री बुरी तरह हिल गई है। लेकिन निवेशकों का दुख अभी खत्म नहीं हुआ है। क्रिप्टो निवेशकों को अभी और दर्द सहना होगा। जेपी मॉर्गन के विश्लेषकों का कहना हैं कि आने वाले हफ्तों में बिटकॉइन में 25 फीसदी की और गिरावट आ सकती है। इससे दूसरी क्रिप्टोकरेंसीज भी औंधे मुंह गिर सकती हैं।

फेडरल रिजर्व की बात करें, तो ब्याज दरों में बढ़ोतरी के अलावा यह जून से लगातार अपनी बैलेंस शीट को भी छोटा कर रहा है। यह महंगाई के खिलाफ अपनी लड़ाई में इकनॉमी को कूल करने के लिए वित्तीय बाजारों से पैसा निकाल रहा है। इसका मतलब है कि बाजार से लिक्विडिटी कम हो रही है। यह केवल क्रिप्टो के लिए ही बुरा नहीं है, बल्कि स्टॉक्स जैसी दूसरी एसेट क्लास के लिए भी यह सही नहीं है।

कुल मिलाकर बात यह है कि क्रिप्टोकरेंसी के लिए यह काफी बुरा समय चल रहा है। सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन की वैल्यू एक साल में 75 फीसदी से अधिक गिर गई है। हालांकि, मंगलवार को यह बढ़त के साथ 16,675 डॉलर के करीब ट्रेड करती दिखाई दी। कोरोना महामारी के समय लोगों ने क्रिप्टोकरेंसी में जमकर पैसा लगाया था। इसका कारण था अमेरिकी केंद्रीय बैंक द्वारा बाजार में जमकर लिक्विडिटी लाना। फेडरल रिजर्व ब्याज दरों को जीरो के करीब ले आया था। लेकिन अब यह काफी पुरानी बात हो गई है।

हाल के महीनों में महंगाई काफी बढ़ी है। ब्याज दरें बहुत ऊपर जा चुकी हैं और बाजार में लिक्विडिटी धीरे-धीरे कम हो रही है। यह स्थिति डिजिटल एसेट्स के लिए अच्छी नहीं है, क्योंकि एक्सपर्ट्स के अनुसार डिजिटल एसेट्स में लोग अपना अतिरिक्त पैसा ही निवेश करते हैं।

जेपी मॉर्गन के विश्लेषकों का कहना है कि फेड की नीतियों से अगले साल भी निवेश के लिए नकदी की उपलब्धता पर भारी दबाव रहेगा। इसके अनुसार, आने वाले वर्षों में भी ग्लोबल मनी ग्रोथ में मंदी जारी रहेगी। कम पैसे का मतलब है रिस्क बढ़ना। इसलिए निवेशक क्रिप्टो से बाहर निकल रहे हैं।

बिग टेक जैसे दूसरे संवेदनशील सेक्टर्स भी इसी तरह की समस्या का सामना कर रहे हैं। आईटी सेक्टर में हम इस समय छंटनी देख रहे हैं। इसका कारण है कि यह सेक्टर मंदी की चपेट में आ रहा है। एपल, अल्फाबेट और माइक्रोसॉफ्ट जैसी टेक्नोलॉजी कंपनीज में गिरावट है। इन कंपनियों का एसएंडपी 500 में बड़ा हिस्सा है। फेड पॉलिसी में बदलाव से यूएस हाउसिंग मार्केट इंडस्ट्री भी काफी प्रभावित हुई है।

हालांकि, पिछले हफ्ते चीन ने कोविड प्रतिबंधों में ढील दी। इससे बाजार में सकारात्मक रुख दिखा है। युआन एक महीने के उच्च स्तर पर आ गई है। हांगकांग में लिस्ट ट्रैवल कंपनियों के शेयरों में भी तेजी दिखी। चीनी अथॉरिटीज देश के रियल एस्टेट संकट को खत्म करने की कोशिश कर रही है, जिसने पिछले एक साल से इकनॉमी को बुरी तरह प्रभावित किया है।

2030 के लिए बिटकॉइन का पूर्वानुमान कैसे करें बिटकॉइन

की कीमत वर्तमान में घट रही है, मुख्य रूप से तरलता की कमी के कारण। हालांकि, बिटकॉइन की कीमत जल्द ही वापस आ जाएगी क्योंकि अधिक लोग फिर से निवेश करना शुरू कर देंगे। गिरती प्रवृत्ति एक अस्थायी घटना है, और बीटीसी धीरे-धीरे ठीक हो जाएगा। YTD-BTC से पता चलता है कि BTC का ठीक होने का अच्छा इतिहास है। जब तक मौजूदा चलन जारी है, सिक्के का गिरना चरण जल्द ही समाप्त हो जाना चाहिए। यहां क्लिक करें अधिक जानकारी के लिए

2025 के लिए मूल्य भविष्यवाणी

कई लोगों ने सोचा है कि 2025 में बिटकॉइन की कीमत कैसे होगी। हालांकि हमारे पास काम बिटकॉइन कैसे निकालें करने के लिए कोई ठोस डेटा नहीं है, पिछले रुझान बताते हैं कि उस समय तक क्रिप्टोकुरेंसी $ 1 मिलियन प्रति सिक्का से ऊपर उठ जाएगी। इसके अलावा, यह भविष्यवाणी इस तथ्य पर आधारित है कि क्रिप्टोकुरेंसी की अधिक मांग होगी, साथ ही मुद्रा की आपूर्ति में गिरावट भी होगी।

हालांकि बिटकॉइन की कीमत की भविष्यवाणी करना मुश्किल है, फिर भी लंबी अवधि में यह एक अच्छा निवेश है। यह आभासी मुद्रा अत्यंत अस्थिर है, जिसका अर्थ है कि आपकी पूंजी जोखिम में है। कहा जा रहा है, कुछ विशेषज्ञ हैं जिन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ अनुमान दिया है। वर्ष 2025 के लिए उनकी कुछ भविष्यवाणियां नीचे सूचीबद्ध हैं।

दिसंबर 2025 में, बिटकॉइन की कीमत लगभग $0.0013 तक बढ़नी चाहिए, और IBTC की औसत कीमत $0.0013 और $0.0014 के बीच कहीं होगी। एक अधिक यथार्थवादी दीर्घकालिक मूल्य पूर्वानुमान में दिसंबर 2025 में बिटकॉइन ट्रेडिंग $0.0015 से $0.0013 तक होगी। हालाँकि, आपको इस पूर्वानुमान को सुसमाचार के रूप में नहीं लेना चाहिए, क्योंकि यह किसी भी मानव द्वारा सत्यापित नहीं किया गया है।

वित्तीय बाजार में प्रवेश करने वाली पहली क्रिप्टोकरेंसी, बिटकॉइन वित्त की दुनिया में क्रांति लाने के लिए तैयार है। वास्तव में, यह भविष्यवाणी की गई है कि 2025 तक, बिटकॉइन दुनिया भर के अरबों लोगों के लिए पसंदीदा भुगतान विधि होगी। इस डिजिटल मुद्रा का बाजार पूंजीकरण $400 बिलियन होने की उम्मीद है। इस विशाल क्षमता के साथ, यह समय जल्दी उठने का है।

पूर्वानुमान 2030 के लिए

बिटकॉइन मूल्य भविष्यवाणी कई कारकों पर आधारित हो सकती है। उनमें से एक पड़ाव घटना है, जो क्रिप्टो की मांग को बढ़ाएगा और बिटकॉइन नेटवर्क के भीतर मुद्रास्फीति को प्रेरित करेगा। दूसरा बीटीसी की घटती आपूर्ति है। चूंकि सिक्के में 21 मिलियन यूनिट की सीमित आपूर्ति है, इसलिए नई इकाइयाँ बनने के साथ ही मुद्रास्फीति धीरे-धीरे कम हो जाएगी। आखिरकार, आपूर्ति घटकर 0.39 प्रतिशत हो जाएगी, जो कि मौजूदा मुद्रास्फीति दर 0.67% से कम है।

एक अन्य कारक जो 2030 के लिए बिटकॉइन की कीमत की भविष्यवाणी को प्रभावित करेगा, वह है मुद्रा को अपनाना। सरकारों द्वारा बिटकॉइन को अपनाने से इसके मूल्य में वृद्धि होने की संभावना है। सेंट्रल अफ्रीकन रिपब्लिक ने इसे लीगल टेंडर के रूप में स्वीकार करने वाला दूसरा सबसे तेज देश बना दिया है। यह संभव है कि सरकारें ऐसे कानून और विनियम पारित करेंगी जो बिटकॉइन को अपनाने पर रोक लगाएंगे। विशेषज्ञों का मानना ​​है कि 2030 तक बिटकॉइन दुनिया की सबसे मूल्यवान संपत्तियों में से एक बन जाएगा।

इसके बावजूद, साल के अंत तक बिटकॉइन की कीमत पर कोई सहमति नहीं है। विशेषज्ञों ने अपनी भविष्यवाणियों को एक औसत और संचयी अनुमान पर आधारित किया है। फिर भी, 2030 के लिए बिटकॉइन की कीमत की भविष्यवाणी करना अभी भी मुश्किल है। और भले ही बिटकॉइन की कीमत की भविष्यवाणी सच हो, यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करना अत्यधिक सट्टा है।

हालांकि बिटकॉइन की कीमत का सटीक अनुमान लगाना मुश्किल है, लेकिन मौजूदा तकनीकी आंकड़ों के आधार पर उचित अनुमान लगाना संभव है। इससे बाजार के रुझानों को ट्रैक करना और निवेश करने का सही समय निर्धारित करना आसान हो जाता है। जब तक मांग और कीमतों में इसी तरह की वृद्धि होती है, यह कहना मुश्किल है कि 2030 में बिटकॉइन कितना बढ़ेगा।

2022 के लिए

करने का सबसे अच्छा तरीका मूल्य पूर्वानुमान 2022 के लिए बिटकॉइन की कीमत की भविष्यवाणी मौलिक विश्लेषण का उपयोग करना है। यह तकनीक व्यापारियों को क्रिप्टोक्यूरेंसी की कीमत निर्धारित करने में मदद करती है। यह लंबी अवधि के निवेश करने में भी मदद करता है। मौलिक विश्लेषण में क्रिप्टोक्यूरेंसी परियोजना के अंतर्निहित मूल्यों को देखना शामिल है ताकि यह पता लगाया जा सके कि यह मूल्य में वृद्धि या कमी की संभावना है या नहीं।

बाजार ने हाल के महीनों में अस्थिरता दिखाई है, और विशेषज्ञ संस्थागत गोद लेने और विनियमन के रुझानों को करीब से देख रहे हैं। जबकि मूल्य पूर्वानुमान हमेशा सही नहीं होते हैं, ऐसे संकेतक हैं जो अगले कई वर्षों में बिटकॉइन के तेजी से चलने की ओर इशारा करते हैं। यह मानते हुए कि विनियमन और संस्थागत गोद लेना जारी रहेगा, यह संभव है कि 2022 में बिटकॉइन का मूल्य बढ़ जाएगा।

बिटकॉइन की कीमत में हालिया अस्थिरता के बावजूद, कई निवेशक अपने मूल्य पूर्वानुमानों पर कायम हैं। 285k से अधिक अनुयायियों वाले एक ट्विटर उपयोगकर्ता BigCheds ने भविष्यवाणी की कि 2022 में बिटकॉइन $ 12,000 तक पहुंच जाएगा। बाद में उन्होंने अपनी भविष्यवाणी को दोगुना कर दिया और यहां तक ​​​​कि $ 100,000 के दीर्घकालिक मूल्य पूर्वानुमान के लिए भी धक्का दिया। एक अन्य लोकप्रिय ट्विटर उपयोगकर्ता MacnBTC है, जिसके 236k अनुयायी हैं। उन्होंने भविष्यवाणी की कि मार्च में भालू बाजार के निचले हिस्से में बिटकॉइन $ 12,000 तक पहुंच जाएगा। मैकएनबीटीसी ने यह भी भविष्यवाणी की कि एथेरियम $ 700, टेरा लूना शून्य और सोलाना $ 17 तक पहुंच जाएगा। हालांकि उन्होंने टेरा क्लासिक (LUNC) पर कोई टिप्पणी नहीं की, उनके ट्वीट बिटकॉइन की कीमत के लिए सामान्य दृष्टिकोण का संकेत हैं।

हालांकि बिटकॉइन लंबी अवधि के लिए एक उत्कृष्ट निवेश है, लेकिन यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि यह एक जोखिम भरी संपत्ति है। इतने सारे अज्ञात और जोखिमों के साथ, बिटकॉइन की कीमत नाटकीय रूप से गिर सकती है या तेजी से बढ़ सकती है। नतीजतन, यह सुनिश्चित करने के लिए कि आप अपने निवेश का अधिकतम लाभ उठा रहे हैं, मूल्य प्रवृत्ति की सावधानीपूर्वक निगरानी और विश्लेषण करना महत्वपूर्ण है।

Cyber Crime : बीसीए स्टूडेंट कर रहा था ऑनलाइन हैकिंग, पैमेंट गेटवे से लाखों निकाल कर बिटकॉइन में किया इंवेस्टमेंट

Cyber Crime : गाजियाबाद (Ghaziabad) का यह गैंग (Gang) बेहद ही खतरनाक (Dangerous) है यह लोगों के खाते (Accounts) से पैसे (Money) उड़ा (Theft) लेता है और भारी रकम बिटकॉइन (Bitcoin) में निवेश (Investment) करता है। हाल ही में गाजियाबाद पुलिस (Police) और साइबर (Cyber) सेल ने खुलासा (Disclose) किया है कि आरोपियों ने लोगों के खातों से 35 लाख रुपए उड़ा लिए और उसको बिटकॉइन (Bitcoin) में निवेश किया है।

गाजियाबाद पुलिस और साइबर सेल ने खुलासा करते हुए बताया कि रोज़र पे पेमेंट गेटवे में सेंधमारी कर बिटकॉइन कैसे निकालें कंपनियों और लोगों से 35 लाख रुपए उड़ाए गए और इन पैसों को बिटकॉइन में निवेश कर दिया गया। पुलिस ने महाराष्ट्र के पुणे से एक आरोपी को गिरफ्तार किया है।

दरअसल इंदिरापुरम के रहने वाले श्याम सुंदर का ऑनलाइन फाइनेंस का काम है 10 और 11 अप्रैल को उनकी कंपनी के पेमेंट गेटवे ब्राउज़र पर के खाते में सेंधमारी करते हुए किसी ने साढे पंद्रह लाख रुपए निकाल लिए थे उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस में दर्ज कराई थी अभी इस मामले की जांच चल ही रही थी किस अकाउंट से दो और ट्रांजैक्शन कर दिए गए और करीब साढे आठ लाख दोबारा निकाल लिए गए।

पुलिस ने इस मामले के महाराष्ट्र में ठाणे से विवेक यादव नाम के आरोपी को गिरफ्तार किया है पुलिस ने बताया कि आरोपी बीसीए पास किया हुआ है और अपने दो साथियों के साथ ऑनलाइन अकाउंट हैकिंग का काम कर रहा था।

रेटिंग: 4.45
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 523