मध्य प्रदेश पहुंची भारत जोड़ो यात्रा, राहुल गांधी ने कहा-देश से डर, नफरत, बेरोजगारी और महंगाई खत्म करना हमारा मकसद

Online Fraud Cases

मानव सम्पदा पे रोल में बड़ा बदलाव, ऐसे भरेंगे त्रुटिरहित पेरोल, HOW TO FILL PAYROLL IN HINDI

आवश्यक सूचना:- सभी प्रधानाध्यापक/इं० प्रधानाध्यापक कृपया ध्यान दें! पोर्टल पर लॉगिन के बाद पेरोल माड्यूल में जाने के बाद अटेंडेंस पर क्लिक करने के बाद आपको 3 विकल्प दिखेंगे-

1-Extract Pending Leave- अगर आपकी पेंडिंग ऑर्डर कैसे दें कोई भी छुट्टी पोर्टल पर पेंडिंग है तो वो इसमें दिखेगी। इसमें क्लिक करने के बाद आपको पेंडिंग लीव यदि कोई है तो वो दिखेगी और आप फिर से वापस जाकर अगर संभव हो तो उसे approve/reject करा सकते हैं अन्यथा आगे बढ़ सकते हैं।
2-Add Unauthorised Absentee– इस विकल्प में अगर कोई अध्यापक अनाधिकृत रूप से या बिना किसी सूचना के अनुपस्थित है तो उसका विवरण दर्ज करेंगे।
3-View and Lock Attendance– अन्त में इस विकल्प में जाकर अपने भरे हुए विवरण को अच्छी तरीके से जांच कर फिर लॉक कर देना है।

EPF KYC update without employer approval कैसे करें | PF News in Hindi

EPF kyc update without employer approval

आप अपने EPF अकाउंट में KYC उपडेट न होने से परेशान हैं? आपके KYC डॉक्यूमेंट ऐड करने के बाद भी एम्प्लायर ने वेरीफाई नहीं किया है. ऐसे पेंडिंग ऑर्डर कैसे दें में EPFO विभाग आपके पीएफ अकाउंट में KYC बिना एम्प्लायर के Verification का ऐड करने (EPF kyc update without employer approval) की सुविधा दी है. जिसके लिए आपके पास एसबीआई का अकाउंट (SBI Account) होना चाहिए. आइये हम जानते हैं कि घर बैठे पीएफ अकॉउंट में बैंक KYC कैसे ऐड करें ?

Employer के Approval के बिना EPF Bank KYC Update कैसे करें?

अगर आपके पास पीएफ का अकाउंट हैं. आपने अगर अपने पीएफ खाते का UAN नंबर सक्रिय कर रखा है. आपको यूनिफाइड मेंबर पोर्टल पर ऑनलाइन सेवाओं का लाभ उठाने के लिए KYC ऐड करना पड़ेगा. हमने आपको PF Account में KYC update की जानकारी पूर्व में दी है. उस प्रक्रिया में आपको अपना बैंक अकाउंट, पैन नंबर, आधार कार्ड को ऐड कर एम्प्लायर से वेरीफाई करना पड़ता हैं. ऐसे में EPEFO के नये नियम के अनुसार अगर आपका एम्प्लायर 60 दिन पेंडिंग ऑर्डर कैसे दें में Approve नहीं करता हैं तो वह KYC अमान्य (invalid) हो जायेगा.

ऐसे में ईपीएफओ विभाग के नए अपडेट्स के अनुसार आपको पीएफ बैंक KYC के लिए एम्प्लायर के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे. इसके लिए आपके पास एसबीआई का बैंक अकाउंट होना चाहिए. इसके आलावा बांकी बैंकों के लिए same वही process यानि बैंक अकाउंट add कर एम्पायर से वेरिफीय करवाना होगा.

Related Posts:

सर्वश्रेष्ठ हिंदी कहानियां, लेख और प्रेरणादायक विचार के लिए विजिट करें - HindiChowk.Com

आपके पास एसबीआई का बैंक अकाउंट है तो आप ईपीएफ अकाउंट में बैंक KYC बिना एम्प्लायर के अप्रूवल के घर बैठे कर सकते हैं. आइये हम जानते हैं कि pf अकाउंट में बैंक KYC खुद से ऐड कैसे करें?

  • अब आपको सबसे पहले यूनिफाइड मेंबर पोर्टल पर लॉगिन करना होगा.
  • आपको अपना पीएफ का UNA नंबर, पासवर्ड व् कैप्चा कोड सबमिट कर लॉगिन करें.
  • अब आप डैशबोर्ड में Manage टैब पर KYC ऑप्शन पर क्लिक करें.
  • अब आप ADD KYC सेक्शन में BANK ऑप्शन पर क्लिक करें.
  • अब Bank/Confirm Bank Account Number पर एसबीआई बैंक खाता संख्या दर्ज करें.
  • जिसके बाद Bank account IFSC में अपने बैंक के ब्रांच का आईएफएससी कोड दर्ज करें.
  • आपके एसबीआई बैंक का IFSC Code पासबुक पर मिल जायेगा .
  • अब इसके बाद आप वेरीफाई आईएफएससी बटन पर क्लिक करें.
  • इसके बाद Bank IFSC Code वेरीफाई होने के बाद सेव बटन पर क्लिक करें.
  • आपके आधार कार्ड के साथ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर OTP (One Time Password)आयेगा.
  • उस OTP को अगले पेज में लिखकर सबमिट बटन को क्लिक कर दें.
  • अब आपके पीएफ अकाउंट में बैंक KYC सफलतापूर्वक ऐड हो गया है.
  • अब वह आपको KYC pending for approval सेक्शन में दिखेगा.
  • यह आपके बैंक के द्वारा वेरीफाई के बाद Approved KYC सेक्शन में दिखने लगेगा.
  • अब आपको इसके लिए अपने एम्प्लायर से अप्रूवल की जरुरत नहीं पड़ेगी.

EPF KYC update without employer approval कैसे करें | PF News in Hindi

पीएफ अकाउंट में बैंक KYC ऐड करें |

दोस्त, अगर आप अपने पीएफ अकाउंट में बिना एम्प्लायर के वेरिफिकेशन के बैंक KYC उपडेट करने जा रहे हैं. ऐसे में आपको उससे पहले कुछ बातों का खासकर ध्यान रखना होगा. जो कि इस प्रकार से है-

  • आपके पास एक एसबीआई का बैंक अकाउंट (SBI Bank Account) होना चाहिए.
  • आपने SBI Bank Account और EPF Account/UNA नंबर में नाम मैच होना चाहिए.
  • आपके आधार नंबर के साथ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर OTP आयेगा.

इस तरह से बिना अपने एम्प्लायर के ख़ुशामद किये. आप अपने ईपीएफ अकाउंट के बैंक किस खुद से ऐड कर सकते हैं. अगर आपके एसीबीए बैंक आपके किस अप्रूवल ऐड करने में देरी करे तो आप एसबीआई बैंक में ईमेल के द्वारा शिकायत कर सकते हैं.

ध्यान दें OTP किसी को ना दें।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि किसी भी व्यक्ति को OTP ना दें। क्योंकि आपके फोन पर जो ओटीपी आता है, उससे आपका अकाउंट खाली हो पेंडिंग ऑर्डर कैसे दें सकता है। जैसा कि इस मामले में हुआ है। Delivery Boy को अगर वह व्यक्ति ओटीपी नंबर ना देता, तो उसके साथ ऐसा ना होता।

हालांकि उस व्यक्ति को बिल्कुल भी ऐसा अंदाजा नहीं था, कि ऐसा भी Scam चल रहा है। क्योंकि यह ठगी का नया मामला है। लेकिन अब लोगों को सतर्क रहना चाहिए, कि इस तरह से भी स्कैम हो रहे हैं। इसलिए ऐसी जानकारियों को लोगों तक Share जरूर करें, ताकि लोगों को भी जानकारी मिलती रहेगी ऐसे भी स्कैम होते हैं।

EMI Pending से जुड़ा है नया ठगी का मामला।

आप अपने लोन की EMI तो जरूर चुकाते ही हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि EMI चुकाने में आपके साथ फ्रॉड हो सकता है। जी हां एक ताजा मामला सामने आ रहा है l जहां पर ईएमआई देने के लिए व्यक्ति के साथ फ्रॉड हो गया है। बता दें कि यह घटना Delhi के पालम विहार की है।

जहां पर एक व्यक्ति को सुबह फोन आता है, कि आपकी EMI Pending पड़ी है। जल्दी से इसको जमा कर दीजिए। यह फोन करने वाला शख्स अपने आप को थाने का SHO बताता है। बोलता है अगर आप यह EMI जमा नहीं करते हैं, तो हम आपके खिलाफ एफ आई आर दर्ज करने वाले हैं।

ऐसे में वह व्यक्ति घबरा जाता है। फिर वह फर्जी SHO एक पेंडिंग ऑर्डर कैसे दें वकील का नंबर देता है। बोलता है, इस नंबर पर जल्दी से बात करो। जब व्यक्ति उस वकील को फोन करता है, तो पहले वह वकील उसको बहुत धमकाता है। जिससे वह व्यक्ति काफी डर जाता है।

फिर वह वकील उसको 22,730 रूपये जमा करने को कहता है। वह व्यक्ति घबराकर अपने परिचितों से पैसे लेकर जमा करवा देता है। लेकिन उस व्यक्ति को क्या पता, कि उसके साथ Scam हो गई है। जब कुछ दिनों बाद वे व्यक्ति अपने Loan की EMI के लिए Bank में जाता है। तो उसको पता चलता है कि बैंक से तो ऐसा कोई फोन नहीं आया था।

कोर्ट केस की जानकारी पाने के 2 आसान तरीके, फॉलो करें पेंडिंग ऑर्डर कैसे दें ये सिम्पल स्टेप्स

कोर्ट केस की जानकारी पाने के 2 आसान तरीके, फॉलो करें ये सिम्पल स्टेप्स

कोर्ट केस की जानकारी पाना आसान है. इसके 2 तरीके हैं.

कोर्ट केस की जानकारी पाना आसान है. इसके लिए सुप्रीम कोर्ट और सरकार की ओर से एक अच्छी शुरूआत की गई थी. जिसने कोर्ट केस से जुड़ी जानकारियों को लोगों तक आसानी से पहुंचाने का काम किया. ये जानकारी आप दो तरह से पा सकते हैं.

1. ई-कोर्ट सर्विसेस एप

सुप्रीम कोर्ट और कानून एंव न्याय मंत्रालय ने पिछले साल एक मोबाइल एप्लीकेशन लॉन्च की थी, जिससे कोई भी शख्स कोर्ट में चल रहे मामले से जुड़ी जानकारी आसानी से ले सकता है.

सुप्रीम कोर्ट ने मांगी नए चुनाव आयुक्त की नियुक्ति की फाइल, VRS के फौरन बाद नियुक्त किए गए हैं अरुण गोयल

वैवाहिक मामलों में यदि कोर्ट एकपक्षीय आदेश कर दें तब उसे कैसे निरस्त करवाएं

वैवाहिक मामलों में यदि कोर्ट एकपक्षीय आदेश कर दें तब उसे कैसे निरस्त करवाएं

न्यायालय का यह मानना रहता है कि यदि उसने किसी व्यक्ति को अपने समक्ष उपस्थित होने हेतु बुलाया है और ऐसे बुलावे के बाद भी संबंधित व्यक्ति न्यायालय के समक्ष उपस्थित नहीं होता है, तब न्यायालय उस व्यक्ति को एकपक्षीय कर केवल एक पक्षकार को सुनकर कोई आदेश और डिक्री पारित कर देता है।

कभी-कभी न्यायालय द्वारा दिया गया ऐसा एकपक्षीय आदेश न्याय के अनुरूप होता है। लेकिन कभी-कभी ऐसा आदेश ठीक नहीं होता है, क्योंकि पक्षकार को उसका पक्ष रखने का अवसर ही नहीं दिया गया होता है।

भारत के संविधान की मूल आत्मा यह है कि किसी भी मुकदमे में दोनों पक्षकार को सुना जाए और किसी भी पक्षकार के विरुद्ध बगैर सुने कोई निर्णय नहीं दिया जाए। लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि कोई पक्ष न्यायालय को परेशान करने के उद्देश्य से न्यायालय में उपस्थित नहीं हो रहा है और मामले को टाल रहा है।

रेटिंग: 4.46
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 679