अलाईस ब्ल्यू दोनों दिशाओं में सेवा देने के लिए तथा भारत में पसन्दीदा डिस्काउंट ब्रोकर बनने के लिए प्रतिबद्ध है|ट्रेडर्स की शब्दश: उंगलियों पर रिअल टाईम में जानकारी उपलब्ध होने के साथ और दुनियाभर में हर पल बहुत कुछ होने के साथ और इस क्षेत्र में अस्थिरता और अनिश्चितता होती है।

SBI ने लॉन्च किया 3-in-1 अकाउंट, अब सेविंग्स, डीमैट और ऑनलाइन ट्रेडिंग का फायदा एक ही अकाउंट से

ट्रेडिंग अकाउंट में लाखों रुपए के नुकसान से बचना है तो गलती से भी न ट्रेडिंग के क्या लाभ हैं? भूलें इन टिप्स को

ट्रेडिंग अकाउंट में लाखों रुपए के नुकसान से बचना है तो गलती से भी न भूलें इन टिप्स को

हाल के दिनों में फ्रॉड के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और आपको इनसे बचकर रहने की जरूरत है। अगर आप थोड़ी सी भी चूक होगी तो आपको लाखों रुपए का चूना लग सकता है। आजकल शेयर मार्केट में ट्रेडिंग में सभी लोगों की दिलचस्पी होती है और आप में से बहुत लोग शेयर बाजार में ट्रेडिंग भी करते होंगे, आपके ट्रेडिंग अकाउंट में काफी स्टॉक्स होंगे और उनकी वैल्यू भी काफी होगी। ऐसे में अगर आप सावधानी नहीं रखेंगे तो आपको लाखों रुपए का नुकसान होने की आशंका है। हम आपको बता रहे हैं, शेयर बाजार में ट्रेडिंग करते समय किन बातों को गलती से भी नहीं भूलना चाहिए-

आगामी मार्केट उथलपुथल को ले कर ऑनलाईन ट्रेडिंग के बारे में अलाईस ब्ल्यू के संस्थापक सिधावेलायुथम एम का वक्तव्य

Economy Russia-Ukraine war fear recession in America know founder Alice Blue Sidhavelayutham said online trading | आगामी मार्केट उथलपुथल को ले कर ऑनलाईन ट्रेडिंग के बारे में अलाईस ब्ल्यू के संस्थापक सिधावेलायुथम एम का वक्तव्य

Highlights ट्रेडिंग करने के लिए हमारा मोबाइल एप भी है। 4 लाख से अधिक ग्राहकों के साथ अलाइस ब्ल्यू का विस्तार पूरे देश में हैं। बड़े पैमाने के ट्रेड पर आसानी से प्रक्रिया करना, यह होना चाहिए।

जो कोई स्टॉक मार्केट में ट्रेड कर रहा है, उसे पता है कि अमरिका की भूमिका, अमेरिका में मंदी आने का डर, युक्रेन युद्ध से जुड़ी भू- राजकीय उथलपुथल, चीन का फिर से खुलना और उससे जुड़ी जोखिम आदि के कारण हाल के समय में मार्केट में बहुत अस्थिरता है।

जरूरी कागजात

अगर आप भी SBI का ये 3-in-1 खाता खोलना चाहते हैं तो आपके पास ये सभी जरूरी काजगात होने चाहिए.

  • पैन कार्ड
  • फोटोग्राफ
  • पासपोर्ट, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस या Voter ID कार्ड

SBI डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट्स

  • पासपोर्ट साइज की एक फोटोग्राफ
  • पैन कार्ड
  • आधार कार्ड
  • एक कैंसिल चेक

ई-मार्जिन फैसिलिटी के अंतर्गत, कम से कम 25 प्रतिशत मार्जिन के साथ ट्रेड किया जा सकता है. वहीं जरूरी मार्जिन पाने लिए कैश या कोलैटरल का यूज करके अगले 30 दिनों तक कैरी फॉरवर्ड कर सकता है. ग्राहकों के पास डिलीवरी को कन्वर्ट करके स्टॉक अपने डीमैट अकाउंट में मंगाने या फिर एक्सपायरी से पहले स्कैयर ऑफ करने का विकल्प भी रहेगा.

ऐसे उठाएं लाभ

इस खाते का लाभ लेने के लिए ग्राहकों को कुछ ईजी स्टेप्स फॉलो करने होंगे-

स्टेप 1: SBI Securities वेब प्लेटफॉर्म के जरिए ट्रेडिंग अकाउंट में Login करें.
स्टेप 2: Order Placement (खरीदें / बेचें) Menu पर जाएं.
स्टेप 3: ऑर्डर देते समय Product Type को ई-मार्जिन के रूप में चुनना है.

Share Market Tips: नए साल में ये 3 शेयर करेंगे बड़ा कमाल, मिलेगा 40% प्रॉफिट

Share Market Tips

Stock market tips in hindi: देश में इस समय नए साल यानी 2023 की तैयारी चल रही है. क्योंकि नया साल नई उम्मीद, नई ऊर्जा और नए अवसर लेकर आता है. इसलिए लोगों को 2023 का बेसब्री से इंतजार है. दिसंबर यानी पुराना साल खत्म होने वाला है, इसके साथ ही चालू वित्तीय वर्ष की तीसरी तिमाही भी पूरी होने वाली है. लिहाजा सभी कंपनियों को अपनी बैलेंस शीट के आंकड़े प्रस्तुत करने है. ऐसे में अगर आपको शेयर मार्केट की थोड़ी समझ है और ट्रेडिंग करते हैं तो न्यू ईयर में फर्स्ट मंथ यानी जनवरी में अच्छी जगह इन्वेस्ट कर बड़ा मुनाफा कमा सकते हैं.

क्योंकि हर तिमाही के बाद शेयर मार्केट में बड़ा चेंज आता है. इसलिए ब्रोकरेज फर्म की रिपोर्ट्स पर ध्यान देना बहुत जरूरी हो जाता है. ऐसे में आज हम आपको बताते हैं कि देश की नामचीन ब्रोकरेज फर्म ने कौन-कौन से शेयर ट्रेडिंग के क्या लाभ हैं? पर दांव लगाया है.

स्‍टॉक्‍स और शेयरों का ट्रेडिंग के क्या लाभ हैं? क्‍या होगा?

आपका फंड डीमैट अकाउंट में जमा होता है. ये डीमैट अकाउंट डिपॉजिटरीज के पास खुलात है. सेबी ने दो डिपॉजिटरीज – नेशनल सिक्‍योरिटीज डिपॉजिटरीज लिमिटेड (NSDL) और सेंट्रल डिपॉजिटरी सर्विसेज (इंडिया) लिमिटेड (CDSL) को मंजूरी दी है. भारत सरकार के वित्‍त मंत्रालय के प्रति सेबी की जवाबदेही होती है.

किसी भी समय पर एक निवेशक का स्‍टॉक या शेयर ब्रोकरेज फर्म्‍स के पास नहीं होता है. वे बस एक प्‍लेटफॉर्म के तौर पर काम करते हैं. इनका काम बस आपके निर्देश के हिसाब से आपकी जगह ट्रेड करना है. बदले में ये आपसे फीस वसूलते हैं.

इसी प्रकार आपका म्‍यूचुअल फंड इन्‍वेस्‍टमेंट एसेट मैनेजमेंट कंपनी (AMC) के पास होता है. ऐसे में अगर ब्रोकरेज फर्म बंद भी हो जाता है तो आपका म्‍यूचुअल फंड सुरक्षित रहेगा.

रेटिंग: 4.69
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 614